राफेल उड़ाने वाले सबसे पहले भारतीय बने एयर कमोडोर हिलाल अहमद राथर
August 4, 2020 • Bilal Ansari

हिलाल कश्मीर ही नहीं,बल्कि पूरे देश में रातों रात चर्चा का विषय बन गए हैं,इसकी वजह यह है कि वह राफेल उड़ाने वाले भारत के पहले पायलट बन गए हैं।कश्मीर के हिलाल अहमद ही वह शख्स हैं, जिन्होंने राफेल लड़ाकू विमानों की पहली खेप को विदाई दी, जिसमें फ्रांस से भारत के लिए उड़ान भरी। इतना ही नहीं,वह भारतीय जरूरतों के अनुसार, राफेल विमान के शस्त्रीकरण से भी जुड़े रहे हैं। राफेल में भी भारतीय कंडिशन के हिसाब से हिलाल ने हथियारों का जखीरा भरवाया और फिर इसकी क्विक डिलीवरी भी सुनिश्चित कराई।हिलाल अभी फ्रांस में भारत के एयर अटैच हैं। यहां खास बात यह है कि भारतीय वायुसेना के इस अधिकारी के करियर डेटेल्स के मुताबिक, हिलाल अहमद दुनिया में यह सर्वश्रेष्ठ फ्लाइंग अधिकारी हैं।भारतीय वायुसेना अधिकारी हिलाल अहमद कश्मीर के अनंतनाग जिले में एक मध्यम वर्गीय परिवार से आते हैं।उनके पिता दिवंगत मोहम्मद अब्दुल्लाह राथर जम्मू-कश्मीर के पुलिस विभाग से पुलिस उपाधीक्षक के पद से सेवानिवृत्त हुए थे।उनकी तीन बहनें हैं और वह इकलौते भाई हैं।