दिल्ली में हुई हिंसा पर बोले सीएम केजरीवाल- 'बाहरी थे दंगाई', अब नफरत की राजनीति बर्दाश्त नहीं की जाएगी
February 27, 2020 • Bilal Ansari

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा में बुधवार को उत्तर पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में नागरिकता कानून को लेकर हुई हिंसा को लेकर बात की. दिल्ली विधानसभा को संबोधित करते हुए अरविंद केजरी वाल 

ने कहा कि हिंदुओं और मुसलमानों को मारने से किसी को फायदा नहीं हुआ. केजरीवाल ने विधानसभा में कहा कि दिल्ली के आम लोग हिंसा (Delhi violence) में शामिल नहीं हैं, इस हिंसा में बाहर के लोग, कुछ राजनीतिज्ञ, असामाजिक तत्व शामिल हैं. उन्होंने कहा इस दंगे में हर कोई मारा जा रहा है. राहुल सोलंकी की मौत हो गई वो हिन्दू था, ज़ाकिर की मौत हो गई वो मुसलमान था. कुछ असामाजिक तत्व अपने निजी फायदे के लिए जनता को भड़का रहे हैं.' उन्होंने यह भी कहा कि दंगे राजनीतिक तत्वों और बाहरी लोगों द्वारा किए गए थे. केजरीवाल ने हिंसा में शहीद हुए दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल के परिवार को एक करोड़ रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की

उन्होंने कहा कि 'अब नफरत की राजनीति बर्दाशत नहीं की जाएगी, दंगो की राजनीति बर्दाश्त नहीं की जाएगी. अब पूरी दिल्ली को एक साथ खड़े होकर कहना होगा कि अब ये भाई से भाई को लड़ाने वाली राजीनीति बर्दाश्त नहीं कि जाएगी. सारे धर्म के लोगों को एक साथ खड़े होने का वक़्त आ गया हैं. हम सबको एक साथ खड़े होने की ज़रूरत है. आधुनिक दिल्ली लाशों की नींव के ऊपर नहीं बन सकती.

टिप्पणियां बता दें कि उत्तर पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में भड़की हिंसा में अब तक 23 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 200 लोग घायल हैं. पीएम मोदी ने भी लोगों से शांति और भाईचारा बनाए रखने की अपील की है.