दंगों के दौरान ताहिर हुसैन लगातार आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ संपर्क में था- आदेश कुमार गुप्ता
June 4, 2020 • Bilal Ansari

 

नई दिल्ली, 3 जून। पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों और आईबी कर्मचारी अंकित गुप्ता की हत्या को लेकर दिल्ली पुलिस द्वारा आम आदमी पार्टी के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करने पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री आदेश कुमार गुप्ता ने कहा कि पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों का जिक्र करते ही मन विचलित हो जाता है। अब यह सच्चाई सामने आ गई है कि इन दंगों का मास्टरमाइंड आम आदमी पार्टी का पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन ही है। साथ ही यह बात भी सामने आई है कि पीएफआई की ओर से ताहिर हुसैन व उमर खालिद को 1 करोड़ से अधिक की रकम उपलब्ध कराई गई थी, जिसे ताहिर हुसैन ने दंगों को अंजाम देने के लिए लोगों में बांटा था।

श्री गुप्ता ने कहा कि ताहिर हुसैन द्वारा सुनियोजित तरीके से रची गई दंगों की साजिश ने 53 लोगों की जान ले ली और 200 से भी ज्यादा लोग घायल हुए थे। क्या इतनी बड़ी साजिश की भनक आम आदमी पार्टी सरकार में किसी को नहीं लगी? क्या दिल्ली सरकार ने अपने नेताओं को दिल्ली को जलाने की खुली छूट दे रखी है? दंगों के दौरान ताहिर हुसैन लगातार आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ संपर्क में था। दंगों के बाद भी आम आदमी पार्टी के नेताओं ने ताहिर हुसैन को बचाने की पुरजोर कोशिश करते रहे। क्या दंगों के लिए ताहिर हुसैन को आम आदमी पार्टी का संरक्षण प्राप्त था? दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल को दिल्ली ही नहीं बल्कि पूरे देश के लोगों से इस बात के लिए माफी मांगनी चाहिए कि दिल्ली में दंगे जैसा भयावह मंजर फैलाने के पीछे उनकी ही पार्टी का पार्षद था। दिल्ली को जलाने वाले आम आदमी पार्टी के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।