राजकीय सम्मान के साथ हुआ दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का अंतिम संस्कार, जारी है सोनभद्र शूटआउट पर सियासी संग्राम
July 21, 2019 • sona thakur

नई दिल्ली: 

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि देने के लिए सैकड़ों लोग उमड़ पड़े. उनका पार्थिव शरीर रविवार को कांग्रेस मुख्यालय लाया गया. तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं और राजधानी को आधुनिक रूप देने वाली वरिष्ठ कांग्रेस नेता का दिल का दौरा पड़ने के बाद यहां एक निजी अस्पताल में शनिवार दोपहर निधन हो गया था. उनके पार्थिव शरीर को जब निजामुद्दीन स्थित उनके आवास से पार्टी मुख्यालय लाया गया तो उनकी आखिरी झलक पाने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच धक्का मुक्की होने लगी. कांच के ताबूत में उनका पार्थिव शरीर लेकर आ रहा ट्रक सड़क पर धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा था क्योंकि सड़क समर्थकों से भरी पड़ी थी जो 'जब तक सूरज चांद रहेगा शीला जी का नाम रहेगा' के नारे लगा