कांग्रेस धर्म, जाति, वर्ग व स्वार्थ की राजनीति नहीं करतीः नताशा शर्मा
June 24, 2019 • Neha Sharma

देश के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की स्थिति भले ही ज्यादा मजबूत नही रही लेकिन कांग्रेसजनों का मनोबल बाकी है कांग्रेस के नेता व कार्यकर्ताओं ने जनता के फैसले को स्वीकारतें हुए पार्टी के प्रति समर्पण व जनता के प्रति अपने कर्तव्य को जारी रखा है। दिल्ली की अगर बात करें तो पूर्व मुख्यमंत्री व मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित के नेतृत्व में कांग्रेस के प्रति जनता के विश्वास के ग्राफ में बढ़ोत्तरी हुई है। पिछले लोकसभा, विधानसभा व निगम चुनावा में कांग्रेस तीसरे स्थान पर थी लेकिन लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस दूसरे स्थान पर रही जिसका श्रेय नेताओं के साथ-साथ पार्टी वर्कर्स को अधिक जाता है। दिल्ली के कांग्रेस वर्कर्स ने आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियां भी आरम्भ कर दी हैं। जो भी सीनियर लीडरों का निर्देश होता है वर्कर्स उसका निर्वाह पूरी आस्था व जिम्मेदारी के साथ करते हैं।
ऐसी ही एक कांग्रेस की कर्मठ, जुझारू व प्रयत्नशील सिपाही नताशा शर्मा से आपकी मुलाकात कराने जा रहे हैं जिन्हें कांग्रेस विरासत में मिली है तथा कांग्रेस के बैनर तले वर्षों निःस्वार्थ जन सेवा के कार्य करती रहीं। इन्होंने विशेष रूप से महिलाओं को संगठित कर पार्टी के साथ जोड़ने का कार्य किया। पार्टी के प्रति समर्पण को देख वर्ष 2016 में इन्हें जनकपुरी ब्लॉक महिला कांग्रेस की अध्यक्षा मनोनीत किया गया जिससे इनका ऊर्जावर्धन हुआ और इन्होंने पार्टी के कार्यों को अधिक रूचि लेकर करना आरम्भ कर दिया। इसके बाद जन मानस में इनकी बढती लोकप्रियता को देख पार्टी ने वर्ष 2017 निगम चुनाव में इन्हें चुनाव मैदान में उतारा। भले ही यह चुनाव नही जीत सकीं लेकिन इन्हेांने हिम्मत नहीं हारी और पार्टी के कार्यों में निरंतर लगी रही। इसके बाद इन्हें वर्ष 2018 में दिल्ली प्रदेश महिला कांग्रेस सोशल मीडिया की स्टेट कोर्डिनेटर की जिम्मेदारी सौंपी गई। जिसे इन्होंने दिल्ली प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्षा शर्मिष्ठा मुखर्जी के संरक्षण में बखूबी अंजाम दिया। इसी के मद्देनजर इनकी पदोन्नति करते हुए वर्ष 2019 में ऑल इंडिया महिला कांग्रेस की अध्यक्षा सुष्मिता देव द्वारा ऑल इंडिया महिला कांग्रेस सोशल मीडिया की नेशनल कोर्डिनेटर बनाया गया है।

श्रीमती नताशा ने साक्षात्कार के मध्य एक प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि स्वतंत्रता सैनानियों की मुखबरी अंग्रेजों से करके इनाम पाने वाले भले आज सत्ता पर काबिल हो गए हैं लेकिन देश की जनता की समझ में जल्द ही यह बात आ जायेगी कि कांग्रेस जैसी राष्ट्रहितेषी पार्टी कोई दूसरी नही है। उन्हेांने नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जब कोई मदारी डुगडुगी बजाता है तो बड़े-बड़े समझदार लोग भी उसका खेल देखने के लिए रूक जाते हैं। भाजपा ने पिछले पांच वर्ष देश में नफरत फैलाने का काम किया, बेरोजगारी, महंगाई, भ्रष्टाचार चरम सीमा पर रही फिर भी भाजपा जीत गई यह बात भी देश की जनता हजम नहीं कर पा रही है।


कांग्रेस के प्रति आस्था से सम्बंधित प्रश्न का उत्तर देते हुए नताशा शर्मा ने कहा कि जब-जब देश व प्रदेश में कांग्रेस की सरकार रही है तब-तब विकास की गंगा बही है। कांग्रेस का बलिदानी इतिहास है कांग्रेस के नेता कभी भी धर्म, जाति, वर्ग के नाम पर जनता को विभाजित करके अपना राजनीतिक स्वार्थ पूरा नहीं करते। कांग्रेस सेकूलर पार्टी के रूप में पहचानी जाती है, कांग्रेस की नीतियां सभी वर्ग के लोगों के हित को ध्यान में रखकर बनाई जाती हैं इसीलिए मुझे कांग्रेस पसंद है।