कवि समाज का आईनादार होता है : इमरान हुसैन
September 28, 2019 • Ruksar Khan

 नई दिल्ली ! फेस इस्लामिक कल्चरल कम्युनिटी इंटीग्रेशन (फिक्की) द्वारा विश्व प्रसिद्ध शायरा अना देहलवी की साहित्यिक सेवाओं के मद्देनजर जश्ने अना देहलवी कार्यक्रम के मौके पर ऑल इंडिया मुशायरे का आयोजन पटपड़गंज स्थित जेपी होटल में किया गया ! हैंड फॉर हेल्प समिति के चेयरमैन महबूब खान साहिल की अध्यक्षता में आयोजित इस यादगार मुशायरे के मंच का संचालन मशहूर शायर मोइन  शादाब द्वारा किया गया,  जहां दिल्ली सरकार के मंत्री हाजी इमरान हुसैन मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे ! इसके अलावा दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री डॉ अशोक कुमार वालिया, उत्तर प्रदेश साहिबाबाद केे डिप्टी सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस डॉ राकेश मिश्रा, पूर्व चेयरमैन दिल्ली वक्फ बोर्ड चौधरी मतीन अहमद, राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के  अध्यक्ष मोहम्मद अफजाल, पूर्व चेयरमैन दिल्ली स्टेट हज कमेटी डॉ परवेज मियां, आम आदमी पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष हाजी यूनुस,जिला कृष्णा नगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गुरचरण सिंह राजू,  यमुनापार विकास बोर्ड के पूर्व उपाध्यक्ष अबजीत सिंह गुलाटी, सर्वोकान वोल्टेज स्टेबलाइजर के सी एम डी हाजी कमरुद्दीन सिद्दीकी, भाईचारा समिति के अध्यक्ष भाई मेहरबान, यूनाइटेड अगेंस्ट हेड के प्रमुख हाजी खालिद सैफी, समाजसेवी मुजीब उर रहमान आबान प्रॉपर्टीज के सी एम डी अरशद हुसैन आदि गणमान्य व्यक्ति विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित रहे ! मुशायरे की शमा दिल्ली स्टेट मोमिन कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष हाजी इमरान अंसारी व डॉल्फिन फुटवेयर कंपनी के सीएमडी  सैयद फरहत अली द्वारा रोशन की गई ! इस मौके पर अना देहलवी के ग़ज़ल संग्रह पुस्तक तुम बिन का लोकार्पण भी किया गया तथा फेस ग्रुप सहित कई सामाजिक संस्थाओं द्वारा अना देहलवी को उनकी साहित्यिक सेवाओं के लिए विशेष सम्मान से पुरस्कृत भी किया गया ! 


मंत्री इमरान हुसैन ने अपने वक्तव्य में कहा कि कवि व शायर समाज का आईनादार होता है वह जो देखता और महसूस करता है उनको खूबसूरत शब्दों की पंक्तियों में ढालकर समाज के समक्ष प्रस्तुत करता है इसलिए शायर को समाज का आईना भी कहा जाता है,इस सतह पर इनकी कद्रदानी होनी चाहिए !


पूर्व मंत्री अशोक कुमार वालिया ने कहा कि उर्दू रोजमर्रा की जिंदगी  में बोली जाने वाली बहुत ही मीठी जुबान है !  चौधरी मतीन अहमद ने कहा कि उर्दू किसी धर्म विशेष की जागीर नहीं, यह भारतीय जुबान है, जिसे पूरी दुनिया के लोग पसंद करते हैं !


अना देहलवी ने कहा कि मैं भाग्यशाली हूं कि  किसी तरह उर्दू साहित्य की खिदमत कर सकी यह अलग बात है कि इस लंबे सफर में कई तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ा ! मैं आज जो भी कुछ हूं इसमें मेरी मां का सबसे बड़ा योगदान है! फिक्की के चेयरमैन डॉक्टर मुश्ताक अंसारी ने सभी अतिथियों व कवियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मेरी और समिति की खुशनसीबी है कि मुझे उर्दू शायरी के हवाले से उस अजीम  व्यक्तित्व का जश्न मनाने का मौका मिला जो अपनी शायरी के माध्यम से देश-विदेश में पैगाम ए मोहब्बत जन जन तक पहुंचा रही हैं ! उन्होंने कहा  कवि व साहित्यकारों की सेवाएं हर जमाने में उल्लेखनीय रही हैं तथा शायर हालात पर गहरी नजर रखता है और बिना खौफ अपने जज्बात का इजहार करता है !


इस मौके पर तालिब रामपुरी, रामप्रकाश बेखुद, नईम राशिद बुरहानपुर, मुनीर हमदम, साकिब गंगोही,सरवर नगीनवी, अमीर अमरोही,खालिद आजमी, शाहिद अनवर, फरीद अहमद फरीद, राजीव रियाज,जावेद मुसीरी, फरीद कुरेशी, सैफुद्दीन सेफ, सरफराज अहमद फराज देहलवी, इकबाल मसूदी हुनर,डॉक्टर वसीम राशिद, कृष्णा शर्मा दामिनी ,पूनम मटिया, उजमा प्रवीण आदि शायरों ने अपने कलाम पेश किए !


 इस अवसर पर ए सी पी नियम पाल सिंह, हाजी खालिद सैफी, हाजी रियाजुद्दीन अंसारी, चौधरी इरशाद अहमद, सलीम अंसारी,सुहेल सिद्दीकी, प्रवीणा शर्मा, अब्दुल रशीद अंसारी, मोहम्मद  इकराम एडवोकेट, इलियास सैफी, मौलाना अब्दुल माजिद ,वकार चौधरी, फिल्म डायरेक्टर गायक वाजिद अली, वरिष्ठ पत्रकार वसीम अकरम त्यागी, सोहेल सैफी, मोहम्मद तैयब, राशिद सैफी, एस पी सिंह एडवोकेट,सुधाकर द्विवेदी एडवोकेट, मिसेज फेस ऑफ इंडिया तनुजा नंदा, डांस कोरियोग्राफर अंकिता सैनी, मॉडल शाइनी शाह, शकील अंसारी, परवेज आलम, सुषमा कक्कड़, सिमरन कौर, अशोक निठारी आदि गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद रहे !


 कार्यक्रम की सफलता में नेहा शर्मा, दानिश अयूबी, बिलाल अंसारी, उजमा अंसारी,रुखसार खान, मुस्तफा गुड्डू ,सोना ठाकुर,अताउल रहमान,प्राची पांडे,मुमताज गुड्डू, अरशद खान ,राजनगर ,शिवम आदि का विशेष योगदान रहा !